Life Status in Hindi

मैं बड़ो कि इज़्जत इसलिए करता हु, क्यूंकि उनकी अच्छाइया मुझसे ज़्यादा है। और छोटो से प्यार इसलिए करता हु, क्यूंकि उनके गुनाह मुझसे कम है…।


ना जाने कौन से गुनाह कर बैठे हैं। … जो तमन्नाओं की उम्र में तज़ुर्बे मिल रहे हैं..


पता नहीं क्यों, लोग रिश्ते छोड़ देते हैं लेकिन जिद नहीं…


When A Problem Arises,Take A Moment To Listen To Your Heart.


तुम्हारी ज़िन्दगी में हम जैसे हजारों होंगे लेकिन हमारी ज़िन्दगी में तुम जैसी एक हो


समुद्र जब लहरे लेना छोड़ दे तो समझ लेना चाहिए कि अब सुनामी आएगी


एक दिन बड़ा शायर बन ही जायेंगे… अभी तो बस हसीन गम कि तालाश मे है


इतना आसान नही जीवन का किरदार निभा पाना, इंसान को बिखरना पड़ता है रिश्तो को समेटने के लिए.


सभी लोग मरते हैं. पर वास्तव में सभी लोग जीते नहीं हैं.


कुछ चीजें रोने से नहीं सब्र करने से मिलती हैं।


इंसान को इंसान धोखा नहीं देता है बल्कि वो उम्मीदें धोखा दे जाती है जो वो दूसरों से रखता है..


पांच रुपये के नोट सी हो गई है जिन्दगी.चलती है मगर फटे हाल मे.


दुनिया को अक्सर वो लोग बदल देते हैं , जिन्हे दुनिया कुछ करने लायक नहीं समझती


तुम्हारी यादों से है ज़िन्दगी में रौनक इसलिए अपनी नहीं तुम्हारी ज़िन्दगी की दुआ करते हैं


मिलता तो बहुत कुछ है ज़िन्दगी में पर हम गिनती उसी की करते है जो हासिल ना हो सका….


ख्वाईश बड़ी ही बेवफा होती है , पूरे होते ही बदल जाती है


जो दिल में शिकवा और ज़ुबान पर शिकायत कम रखते है वो हर रिश्ता निभाने का दम रखते है।


किन लफज़ों मे लिखूँ मैं अपने इंतज़ार को …. बेजुबां सा इश्क …..खमोशी से ढूँढता है तुम्हे …..


पता नहीं क्यों, लोग रिश्ते छोड़ देते हैं लेकिन जिद नहीं…😢


बस ग़मों को गुमराह कर दो , खुशियाँ खुद लौट आएँगी।


ना तंग कर…..जीने दे …..ऐ जिन्दगी ….. तेरी कसम हम….तेरे आगे हार गये है…


दुसरा मौका सिफॅ कहानियां देती है, जिंदगी नहीं..


ज़िन्दगी मे कभी प्यार करने का मन हो तो अपने दुःख से प्यार करना क्योंकि दुनिया का दस्तूर है जिसे जितना चाहोगे उसे उतना दूर पाओगे..


आँसू भी अक्सर ज्यादा उस इन्सान की आँखों मे मिलेंगे , जिन्हे जिन्दगी ने नही मोहब्बत ने मारा हो


Duniya me kuch log sirf isliye jinda h kyuki unhe marna गैर-कानूनी h.


अपमानित होके जीने से अच्छा मरना है.मृत्यु तो बस एक क्षण का दुःख देती है, लेकिन अपमान हर दिन जीवन में दुःख लाता है.- चाणक्य


Musibat me agar Madat mango, to soch kar mangna,


kyuki musibat todi dheer ki hoti h, aur ashan jindagi bhar ka.