Sharabi Status in Hindi

रात चुप है मगर चाँद खामोश नहीं कैसे कहूँ आज की फिर होश नह इस तरह डूबा हूँ तेरी मोहब्बत की गहराई में हाथ में जाम है और पिने का होश नहीं.


आज सुबह पेपर वाला भास्कर की जगह टाइम्स ऑफ़ इंडिया डाल गया फिर क्या रात 8 बजे का इंतज़ार कर रहा हूँ क्योंकि बिना पिये इंग्लिश कहाँ आती है.


पानी बहुत ख़तरनाक चीज़ है कम मात्रा में दारू में मिल जाये तो लोग शादियों में ये देश है वीर जवानों का पर भी नाच नाचकर स्टेज़ चटका देते है.


होंठों पे आज उनका नाम आ गया प्यासे के हाथ में आज जाम आ गया डोले कदम तो गिरे उनकी बाहों मैं जाके आज तो पीना भी हमारे काम आ गया.


गली में बदनामी का आलम कुछ यूँ है कि, उपवास के लिए चिप्स लेने जाओ, तो दुकानदार पूछता है,आज भी पीने का प्रोग्राम है.


ना दूर हमसे जाया करो दिल तड़प जाता है आपके ख्यालों में ही हमारा दिन गुज़र जाता है पूछता है यह दिल एक सवाल आपसे कि क्या दूर रहकर भी आपको हमारा ख्याल आता है.


तेरी आँखों के ये जो प्याले हैं मेरी अंधेरी रातों के उजाले हैं पीटा हूँ जाम पर जाम तेरे नाम का  हम तो शराबी बे शराब वाले हैं.


उम्मीद नहीं है फिर भी जिए जा रहा हूँ खाली है बोतल फिर भी पिए जा रहा हूँ पता नहीं वो मिलेंगे या नहीं इज़हार-ए-मोहब्बत के लिए पिए जा रहा हूँ.


दिल के दर्द से बड़ा कोई दर्द नहीं होता आशिकों का शराब के सिवा कोई हमदर्द नहीं होता.


पीना चाहते थे हम सिर्फ एक जाम मगर पीते पीते शाम से सवेयर हो गयी बहके बहके कदम धीरे धीरे चले इसलिए आने में ज़ारा सी देर हो गयी.


रख ले 2-4 बोतल कफ़न में  साथ बैठ कर पिया करेंगे जब माँगे गा हिसाब गुनाहों का एक पेग उसे भी दे दिया करेंगे.


हर रोज़ पीता हूँ तेरे छोड़ जाने के ग़म में वर्ना पीने का मुझे भी कोई शौंक नहीं बहुत याद आते है तेरे साथ बीताये हुये लम्हें वर्ना मर मर के जीने का मुझे भी कोई शौंक नहीं.


तु ज़हर दे दे शराब कह कर सनम अब तो मरने के बहाने ढूंढते हैं हम लोग.


नशा मोहब्बत का हो या शराब का होश दोनों में खो जाते है फर्क सिर्फ इतना है की शराब सुला देती है और मोहब्बत रुला देती है.


गम इस कदर भरे है की मैं घबरा के पी गया इस दिल की बेबसी पर तरस खा के पी गया ठुकरा रहा था मुझको बड़ी देर से जहान मैं आज सब जहान को ठुकरा के पी गया.


तुम्हारी नाराजगी हक है लेकिन मुझे मनाने का मोका तो दो.


थोड़ी सी पी शराब थोड़ी उछाल दी कुछ इस तरह से हमने जवानी निकाल दी.